Tuesday, 18 December 2018

पाकिस्तान के इस लीडर की बेटी ने की बेशर्मी की सारी हदे पार वीडियो देखे






दिल्ली: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ सियासी मसलों के अलावे एक और वजह से भी चर्चा में रहते हैं। वो वजह हैं उनकी बेटी मरियम शरीफ। जिसे पाकिस्तान में नवाज शरीफ की राजनीतिक वारिश के तौर पर भी देखा जाता है। सोशल साइट्स पर इन दिनों एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है तस्वीर में जो लड़की केवल टॉप पहनकर अपने बेडरुम में घूम रही हैं वो कोई और नहीं बल्कि नवाज शरीफ की बेटी मरियम शरीफ हैं


इस वीडियो की सच्चाई का किसी तरह का दावा karmajagat.net नहीं करता है। लेकिन इस वीडियो में नीले टॉप में जो लड़की दिखाई दे रही है बताया जा रहा है वो मरियम शरीफ हैं। अगर ये मरियम शरीफ ही हैं तो फिर कहा जा सकता है कि अंग प्रदर्शन की जितनी सीमाएं वो तोड़ सकती थीं उन्होंने तोड़ दिया

वीडियो में लड़की भले ही मस्ती में झूमती नाचती दिख रही है। लेकिन रह रह कर वो अपने अंगों का प्रदर्शन भी कर रही हैं। वीडियो क्लिप में जो लड़की है उसने शरीर के नीचे के अंग में कोई कपड़ा नहीं पहना है और इसी तरह से उसने कई बार अपने निजी अंगों का प्रदर्शन किया है।इस हॉट विडियो को पूरा देखने के लिए निचे क्लिक करे



जिस सियासी घराने से मरियम शरीफ का ताल्लुक है पाकिस्तान में वो सत्ता के शीर्ष पर बैठा परिवार है। शायद यही वजह है कि उस परिवार के एक सदस्य जिसका नाम मरियम है उसका वीडियो फेसबुक और यू ट्यूब पर वायरल हो रहा है


Saturday, 12 May 2018

मिलें दुनिया के 3 सबसे अमीर व्यक्ति से, जाने पहले स्थान पे कौन है

बिल गेट्स 



दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में इ नंबर पे बिल गेट्स का नाम आता है ! बिल गेट्स का जन्म 28 अक्टूबर, 1955  अमेरिका  वासिंगटन  में हुआ था! बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट कंपनी के फाउंडर और चेयरमैन हैं! उनके पास लगभग कुल 90 मिलियन डॉलर की संपत्ति है!

वीरान बुफ्फेट



दुनिया में सबसे अमीर व्यक्तियों की लिस्ट में दुसरे नंबर पे वीरान बुकलेट का नाम आता है ! वीरान बुफे का जन्म 30  अगस्त, 1930 को ओमाहा, नेब्रास्का  हुआ था! वह वर्क सिर खेत में कंपनी के फाउंडर और एक इन्वेस्टर हैं! उनके पास उनकी कुल  संपत्ति लगभग 86 बिलियन डॉलर

विराट के धमाकेदार पारी पर भारी पड़ी, लिन की 62 रनों की पारी

आईपीएल -11 : लिन के नाबाद 62 रनों की पारी के बदौलत कोलकात्ता की 6 विकेट से बड़ी जीत 

 

Monday, 30 April 2018

आईपीएल 11 CSK VS DD: दिल्ली ने जीता टॉस पहले गेंदबाजी का फैसला, सभी की निगाहें धोनी-अय्यर पर

मुंबई इन्डिंस के खिलाफ आठ विकेट से सिक्कस्त झेलने के बाद पटरी से उतरी चेन्नई सुपर किंग्स का सामना आज दिल्ली डेयरडेविल्स से पुणे के मैदान पे हो रहा है, जहाँ दिल्ली ने टॉस जीत कर गेंदबाजी का फैसला लिया !

महेंद्र सिंह धोनी की अगुआई वाली चेन्नई सुपर किंग्स ने लगातार पिछले तीन मुकाबलों में जीत दर्ज की थी लेकिन पिछले मुकाबले में उसे मुंबई इन्डिंस के हाथों हार झेलनी पड़ी थी ! हालांकि चेन्नई सात में से पांच मुकाबले जीत कर अंक तालिका में शीर्ष टीमों में अपना स्थान पक्का किये हुए है !



पिछले मैच में मिली हार के बाद चेन्नई फिर से अपना विजय अभियान जरी रखना चाहेगा ! टीम के सभी बल्लेबाज जबरदस्त फॉर्म में चल रहे है ! रायडू ने सात मैचों में 329 रन बना चुकें हैं ! जबकि धोनी और वाटसन के भी क्रमश: 235 और 203 रन हैं ! टीम के पास किसी भी स्कोर और किसी भी लक्ष्य के बचाव का क्षमता है!



गेंदबाजी की बात की जाए तो अब तक शानदार प्रदर्शन करने वाले दीपक चाहर की कमी टीम को खलेगी ! चाहर चोटिल होने के कारण दो हप्तों के लिए टीम से बाहर हैं ! शारदुल ठाकुर, हरफनमौला शेन वॉटसन के अलावा स्पिनर इमरान ताहिर और कर्ण शर्मा पर गेंदबाजी का दारोमदार होगा! दूसरी तरफ दिल्ली  की टीम अपने नये कप्तान रेयस अय्यर के नेतृत्व में पिछले मैच पे केकेआर को 55 रन से हरा कर जीत की पटरी पर लौटी दिल्ली आत्‍मविश्‍वास से भरी हुई है!

दिल्ली को प्लेऑफ में जगह पक्का करने के लिए जीत की लय बरकरार रखनी होगी ! क्यूंकि दिल्ली की टीम पहले ही सात में से पांच मैच गवा चुकिं है ! टीम एक बार फिर अपने नये और युवा कप्तान से आक्रामक शुरुआत की उम्मीद करेगा ! जिन्होंने केकेआर के खिलाफ शानदार 93 रनों की पारी खेली थी ! अन्य बल्लेबाजों में ऋषभ पंत, ग्लेन मैक्सवेल और पृथ्वी शॉ को चेन्नई के खिलाफ अपनी चमक बिखेरनी होगी! 

आखिर इतने सख्त कानून के बाद भी कम नहीं हो रही रेप की घटनाये

हरयाणा मे हुई कठुआ जैसे घटनाये की सच्चाई क्या है ……


कठुआ मे हुए रेप की घटना के बाद पूरा देश गुस्से मे उबल रहा है |सरकार ने नाबालिग से रेप करने पर फासी की सजा सुना का कानून बना दिया है |लेकिन सैतानो पर इसका कोई असर नहीं दिखाई दे रहा है |हरयाणा के यमुनानगर मे भी कठुआ जैसी घटना को अंजाम दिया गया है |जहा एक नाबालिग से गंगरेप की घटना सामने आई है |



ये घटना यमुनानगर जिले का बताया जा रहा है |जहा एक १३ साल की लरकी को अगवा कर मंदिर परिसर मैं ले गए |दो युवको ने उसके साथ रेप किया और दो अन्य ये सब होता देखता रहा |इतना ही नहीं आरोपियों ने घटना के बाद लरकी की जान लेने की कोशिश भी की |

पीड़ित पक्ष की ओर से की गई शिकायत के मुताबिक गैंगरेप के बाद जाते वक्त आरोपियों ने पीड़िता के सिर को दीवार पर जोर से पटका, जिससे वो बेहोश हो गई। इसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। पीड़िता को जब होश आया तो वो किसी तरह अपने घर पहुंची और परिजनों को पूरी आपबीती सुनाई।



परिजनों ने तुरंत पुलिस को घटना की सूचना दी। सूचना पाकर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और पीड़िता का मेडिकल करवाने के बाद चारों आरोपियों के खिलाफ POCSO एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। पुलिस के मुताबिक पीड़िता के सिर पर गंभीर चोटें आई है। उधर पुलिस ने केस दर्ज कर चारों आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है। लेकिन गैंगरेप की इस घटना को लेकर इलाके के लोगों में जबर्दस्त नाराजगी है।

हाल ही मे जम्मू-कश्मीर के कठुआ से कुछ ऐसा ही घटना सामने आया था |इसी घटना के बाद मोदी सरकार POCSO एक्ट मे बदलाव कर नया कानून लायी थी |इसके बाबजूद भी दरिंदो को इसका कोई डर नहीं दिखाई दे रहा है |

 

मायावती के इस बयान से बीजेपी को लगा झटका

सोनिया- राहुल को लेकर मायावती ने दिया ऐसा बयान कि……


गाँधी परिवार की पारंपरिक मानी जाने वाली लोकसभा सीट अमेठी और रायबरेली पर बीजेपी की नजर है |२०१९ लोकसभा चुनाव मैं बीजेपी इन दो सीट के लिए पुआ जोर लगा रही है |लेकिन मायावती की रणनीति ने बीजेपी को बेचैन कर दिया है |

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आने वाले लोकसभा चुनाव मे मायावती इन दो सीटो पर कोई उम्मीदवार नहीं उतारेगी |इस बात की पुष्टि  मायावती के एक करीबी नेता ने किया है |ताकि बीजेपी और कांग्रेस मे सीधा मुकाबला हो |



वैसे भी समाजवादी पार्टी अमेठी में 2004 से और रायबरेली में 2009 लोकसभा चुनावों से ही इन दोनों सीटों पर कोई उम्मीदवार नहीं उतार रही है। बीएसपी के एक सीनियर नेता के मुताबिक अगर बीएसपी और एसपी का लोकसभा चुनावों में गठबंधन होता है, तो इस बात की संभावना अधिक है कि बीएसपी रायबरेली और अमेठी में कोई अपना उम्मीदवार नहीं उतारेगी। अगर ऐसा हुआ तो बीएसपी का वोट बैंक कांग्रेस की ओर मुड़ जाएगा।

आपको बता दें कि बीजेपी ने रायबरेली सीट आखिरी बार साल 1996 और 1998 के लोकसभा चुनावों में जीती थी। इसके बाद इस सीट पर कांग्रेस के खिलाफ बीजेपी का प्रदर्शन बेहद खराब रहा, जबकि वोटों के लिहाज से बीएसपी काफी आगे रही थी। 2009 के लोकसभा चुनाव में बीएसपी का अमेठी में 14 फीसदी और रायबरेली में 16 फीसदी वोट शेयर था, जबकि बीजेपी का इन दोनों सीटों पर वोट शेयर महज 4 और 6 फीसदी था। हालांकि 2014 के चुनाव में स्मृति इरानी के अमेठी से चुनाव मैदान में उतरने के बाद बीजेपी का वोट शेयर 34 फीसदी हो गया और रायबरेली में ये 21 फीसदी रहा।



लेकिन बीजेपी इन दो सीटो को जीतने के लिए पूरी ताक़त झोक दी है |लेकिन मायावती की ये रणनीति कांग्रेस के रहत की खबर है तो बीजेपी के लिए किसी झटके से काम नहीं है |

 

Thursday, 26 April 2018

अमरनाथ की गुफा से जुड़ा हैरान कर देने वाला ये 1 रहस्य, शायद ही जानते हो आप

अमरनाथ गुफा हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थस्‍थल है। इसे भगवान शिव की सबसे खास जगहों में से एक माना जाता है। प्राचीनकाल में इसे अमरेश्वर भी कहा जाता था। किसने की थी अमरनाथ गुफा की खोज यह बात बहुत ही कम लोग जानते होंगे। जानिए अमरनाथ से जुड़ी ऐसी ही 6 खास बातें..



सबसे पहले किसने की थी इस गुफा की खोज

ऐसी मान्यता है कि इस गुफा की खोज बूटा मलिक नाम के एक मुस्लिम ने की थी। वह एक दिन भेड़ें चराते-चराते बहुत दूर निकल गया। एक जंगल में पहुंचकर उसकी एक साधु से भेंट हो गई। साधु ने बूटा मलिक को कोयले से भरी एक कांगड़ी दे दी। घर पहुंचकर उसने कोयले की जगह सोना पाया तो वह बहुत हैरान हुआ। उसी समय वह साधु का धन्यवाद करने के लिए गया परन्तु वहां साधु को न पाकर एक विशाल गुफा को देखा। उसी दिन से यह स्थान एक तीर्थ बन गया।



यहां शिव ने पार्वती को सुनाई थी अमरकथा
अमरनाथ की गुफा का महत्व सिर्फ इसलिए नहीं है कि यहां बर्फ से प्राकृतिक शिवलिंग का निर्माण होता है। इस गुफा का महत्व इसलिए भी है कि इसी गुफा में भगवान शिव ने देवी पार्वती को अमरत्व का मंत्र सुनाया था।



अमरकथा सुनाने से पहले छोड़ा था सभी का साथ
मान्यताओं के अनुसार, कोई और अमरकथा न सुन ले, इसलिए भगवान शिव ने अमरनाथ गुफा देवी पार्वती को कथा सुनाने से पहले सभी का त्याग कर दिया था। भगवान शिव जब पार्वती को अमरकथा सुनाने ले जा रहे थे, तब उन्होंने रास्ते में सबसे पहले पहलगाम में अपने नंदी का परित्याग किया। इसके बाद चंदनबाड़ी में अपनी जटा से चंद्रमा को मुक्त किया।



शेषनाग नामक झील पर पहुंच कर उन्होंने गले से सर्पों को भी उतार दिया। फिर श्रीगणेश को भी उन्होंने महागुणस पर्वत पर छोड़ देने का निश्चय किया। अंत में पंचतरणी नामक स्थान पर पहुंच कर भगवान शिव ने पांचों तत्वों का परित्याग किर दिया था।



देवी पार्वती के अलावा भी किसी ने सुन ली थी अमरकथा
शास्त्रों के अनुसार, माता पार्वती के साथ ही अमरकथा के रहस्य को शुक (तोता) और दो कबूतरों ने भी सुन लिया था। यह शुक बाद में शुकदेव ऋषि के रूप में अमर हो गए। गुफा में आज भी कई श्रद्धालुओं को कबूतरों का एक जोड़ा दिखाई देता है, जिन्हें अमर पक्षी माना जाता है।



अद्भुत है यहां के शिवलिंग का रहस्य
अमरनाथ गुफा के अंदर बनने वाला शिवलिंग पक्की बर्फ का बनता है जबकि गुफा के बाहर मीलों तक सभी जगह कच्ची बर्फ ही देखने को मिलती है। सभी जगह कच्ची बर्फ होने पर भी शिवलिंग पक्की बर्फ का कैसे बनता है, यह आज भी एक रहस्य है।



यहां गिरा था देवी सती का कंठ
श्री अमरनाथ गुफा में देवी के 51 शक्तिपीठों में से एक स्थापित है। मान्यता है कि यहां देवी सती का कंठ भाग गिरा था। यहां पर देवी सती को महामाया और भगवान शिव को त्रिसंध्येश्वर कहा जाता हैं।